panchayat season 3 review: नेतागिरी की पेशकश पंचायत सीजन 3 में देखने को मिलेगी,पुराने सचिव हटाए गए

panchayat season 3 review: पंचायत वेब सीरीज अमेजॉन प्राइम पर लॉन्च कर दी गई है जितनी भी दर्शकों ने पंचायत वन और पंचायत तू वेब सीरीज को देखा हुआ था वह बेसब्री से इंतजार कर रहे थे की पंचायत का सीजन 3 कब आएगा तो आप सबका बेसब्री से इंतजार खत्म हुआ क्योंकि पंचायत सीजन 3 में काफी ज्यादा आपको एंटरटेनमेंट देखने को मिलेगा और आपके गांव के वह सभी किरदार नजर आएंगे जिन्होंने पंचायत सीजन वन और पंचायत सीजन 3 में काफी अच्छा रोल निभाया था.

जैसा कि अपने पिछले वेब सीरीज में देखा होगा कि विधायक के द्वारा प्रधान जी को धरने पर बिठाया गया था और प्रधान जी जिस काम के लिए गए थे विधायक उसे काम को करने के लिए मना कर दिया था, लेकिन इस वेब सीरीज में जो की काफी शानदार प्रदर्शन देखने को मिला है.

panchayat season 3 review सबसे कमल की बात यह है कि पंचायत सीजन 3 में आपको “सचिव जी ” नजर नहीं आने वाले हैं, क्योंकि पिछले सीजन में आपने देखा ही होगा कि प्रधान जी और सचिन जी और उनके असिस्टेंट का सचिन जी के साथ कुछ अनबन हो गया था जिसकी वजह से विधायक काफी पावरफुल आदमी होने की वजह से सचिन जी का ट्रांसफर करवा दिया था. अब इस सीजन में आपको नए सचिव देखने को मिलता है.

panchayat season 3 review इस सीजन में आपको नए सचिव आते हुए दिखता है और ग्राम पंचायत में जॉइनिंग के लिए प्रधान जी को फोन लगता है लेकिन प्रधान जी फोन कट कर देते हैं और विकास को भी फोन लगता है वह फोन कट कर देता है तो वह डायरेक्ट विधायक जी को फोन लगता है उसके बाद विधायक जी द्वारा जिला मजिस्ट्रेट मैडम को फोन लगाया जाता है. यह सारा कार्यक्रम होने के बाद डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट सीधे प्रधान जी और उनकी पत्नी को कलेक्ट्रेट ऑफिस बुला लेते हैं. वहां पर बातचीत होने के बाद प्रधान जी और उनकी पत्नी रहते हैं कि विधायक जी द्वारा रेकमेंडेड सचिन जी को गांव के द्वारा स्वीकार नहीं किया जाएगा।

उसके कुछ समय के बाद होता क्या है कि विधायक का कुछ केस कोर्ट में चल रहा होता है और उसे सजा लग जाती है जिसकी वजह से डिस्ट्रिक्ट मजिस्ट्रेट मैडम जी के द्वारा रिकमेंडेशन फिर से पुराने सचिव का आ जाता है कि उनको ज्वाइन कराया जाए. फिर क्या कहानी में यहीं से बदलाव आता है, फिर से पुराने “सचिव जी” अभिषेक सर ज्वाइन कर लेते हैं.

panchayat season 3 review 

जैसा कि पुराने सचिव का जोइनिंग जब होता है तो गांव के लोग काफी ज्यादा खुश हो जाते हैं लेकिन वहीं पर प्रधान जी के लिए मुश्किलें और ज्यादा बढ़ने लगते हैं क्योंकि कुछ लोग उनसे गांव में नाराज होते हैं और कुछ लोग ज्यादा योजनाओं को लेकर डिमांडिंग हो जाते हैं इसके पीछे की अपने वजह जानी ही होंगे क्योंकि पिछले वेब सीरीज में दिखाया गया था कि एक टॉयलेट बनवाने के लिए विनोद को काफी ज्यादा इंतजार करना पड़ा था. लेकिन इस वेब सीरीज में कुछ विनोद हो जो सपोर्ट कर रहा था. वह खुद नेता बनने की तैयारी में लग गया था.

panchayat season 3 review उप प्रधान प्रहलाद की कहानी

panchayat season 3 review जैसा कि अपने पंचायत के पुराने सीजन में देखा ही होगा कि उप प्रधान के बेटा जब शहीद हो जाता है तो उप प्रधान प्रहलाद जी काफी ज्यादा परेशान हो जाते हैं और वह नशा करने लगते हैं इस वेब सीरीज में दिखाया गया है कि उप प्रधान प्रहलाद जी पानी की टंकी पर चढ़कर दारू पीते हैं लेकिन जब सचिन जी चाय पीने के लिए वहां पर जाते हैं तो ऐसा पता चलता है टंकी के ऊपर कोई है तो प्रधान प्रहलाद जी वहां नजर आते हैं और उन्हें सपोर्ट करने के लिए ग्राम प्रधान और विकास को बुलाया जाता है उसके बाद लोग उसे समझाते हैं.

panchayat season 3 review इस पंचायत के वेब सीरीज में प्रधान और उप प्रधान काफी ज्यादा एक्टिव नजर आ रहे हैं. लेकिन वहीं पर विकास को जो सपोर्ट करने वाला व्यक्ति है वह भी चुनाव लड़ने की तैयारी में है तो अगर आप पंचायत सीजन 3 का रिव्यू देखेंगे तो यह वेब सीरीज काफी शानदार और इसमें नेतागिरी आपको ज्यादा देखने को मिलने वाली है.

WhatsApp Group Join Now
Telegram Group Join Now
Instagram Group Join Now